fbpx

2021 में ब्लॉग कैसे शुरू करे (best way)

ब्लॉग कैसे शुरू करे ब्लॉग एक ऐसा बिज़नेस है जिसमे यदि ठीक ढंग से काम किया जाये तो आप अच्छा खासे पैसे कमा सकते हैं खास बात यहाँ है की आप अपने ब्लॉग की मदत से किसी ना किसी प्रकार की मुश्किल सुलजहा रहे होंगे

2021 में ब्लॉग कैसे शुरू करे start blog in 2021
 [show]

ब्लॉग और ब्लॉगिंग क्या है |What is blog and blogging

ब्लॉग क्या है | what is Blog

ब्लॉग एक प्रकार की ऑनलाइन डायरी की तरह है जिसमे आप व्यवस्थित तरीके से जानकारी लोगो के साथ बांटते हैं हमें इस बात का ध्यान रखना चाहिए की हर वेबसाइट ब्लॉग नहीं हो सकती परन्तु हर ब्लॉग एक वेबसाइट होती है।

वेबसाइट हर प्रकार की हो सकती है जैसे amazon.inऔर Wikipedia परन्तु इन दोनों में ह्म्म विकिपीडिया को ब्लॉग कहे सकते हैं क्युकी यह वेबसाइट हमें जानकारी देती है जबकि अमेज़न की वेबसाइट हमें उसमे मिलने वाले सामान के बारे में ही जानकारी देती है।

ब्लॉग पोस्ट का उधारण –

एक और ब्लॉग पोस्ट

दोस्तों जब आप गूगल पर कोई भी जानकारी सर्च करते हैं तो आपके सामने कुछ परिणाम सामने आते हैं इसमें जयादा तर परिणाम ब्लॉग ही होते हैं जो अपनी विशेष विषय की जानकारी आप तक पहुँचात है।

ब्लॉगिंग क्या है | what is Blogging

ब्लॉगिंग इस शब्द को आपने बहुत बार गूगल पर सर्च किया होगा आज हम आपको ब्लॉग और ब्लॉग्गिंग के बारे,में सम्पूर्ण जानकारी देंगे। ब्लॉगिंग एक शौक या कर्रिएर की तरह है जिसमे आप भिन्न भिन्न प्रकार की जानकारी लोगो के साथ इंटनेट की मदत से शेयर करते हैं।

आज के इस दौर में ब्लॉगिंग मात्र एक शौक या कर्रिएर नहीं वल्कि एक बिज़नेस की तरह विकसित हो चूका है आज कल आपको हर प्रकार के ब्लॉग हर भाषा में ब्लॉग मिल जायेगा ।

ब्लॉग कैसे शुरू करे
ब्लॉग कैसे शुरू करे

ब्लॉगिंग को सरल भाषा में समझाएं तो यह एक प्रक्रिया है जिसमे आप उपयोग में आने वाली हर जानकारी को अपने ब्लॉग के माधयम से लोगो तक इंटरनेट की मदत से पहुंचाते हैं । यह जानकारी कुछ भी हो सकती है आप चाहे तो रिलीज़ होने वाली नई फिल्मो के बारे में जानकारी दे सकते हैं या तो फिर मदत करने वाले ब्लॉग पोस्ट लिख सकते हैं |

ब्लॉग कैसे शुरू करे By uniquegyan

उदाहरण के लिए आप हमारे ब्लॉग में जो अभी पोस्ट पढ़ रहे हैं यह भी एक प्रकर की गाइड है जिसमे हम आपको बिस्तार से ब्लॉग कैसे बनाते हैं के बारे में बता रहे हैं।

ब्लॉग स्टार्ट करने के फायदे | Benefit of stating a blog

जैसा की मैंने कहा आज कल ब्लॉग्गिंग सिर्फ एक शोक नहीं रह गया है बल्कि बिज़नेस की तरह है जिसमे आप अपना समय इन्वेस्ट करते हैं और पैसे कमाते हैं।

ब्लॉग शुरू करने के बहुत से फायदे हैं जिसकी मदत से आप अपने ब्लॉग से पैसे कमा सके जो की बहुत जरुरी है ताकि आप जानकारी अच्छे से दे सके।

ब्लॉग की मदत से विचारो को प्रस्तुत करना

ब्लॉग की मदत से आप अपने विचारो को लोगो के सामने प्रस्तुत कर सकते हैं जिसकी वजह से आप अपने आप को पहले से जयादा समज़दार महसूस कर पाओगे इसका मुख्य कारण है ब्लॉग बनाने के पीछे की जाने बाली खोज जब आप एक ब्लॉग पोस्ट

लिखते हैं तब आपको लिखने से पहले उस विषय के बारे में पूरी जानकारी लेनी पड़ती है और आप बहुत से ब्लॉग किताबे पढ़ते हो और उस विषय के बारे में पूरी जानकारी लेते हो और आपका ज्ञान औरो की अपेक्षा ज्यादा बढ़ जाता है।

जब आप एक ब्लॉग पोस्ट लिखते हैं तो आप अपने विचार व्यक्त करते हैं जिससे आपकी बिचारो को प्रस्तुत करने की कला है जो आपके ब्यक्तित्व को निखरती है।

स्वतंत्र रूप से काम करना

ब्लॉग की मदत से आप अपने हिसाब से काम कर सकते आप अपने हिसाबसे अपने काम का समय निर्धारित कर सकते हैं

अपने प्रोफेशनल नेटवर्क का निर्माण करना

ब्लॉग की मदत से आप अपने प्रोफेशनल नेटवर्क का निर्माण कर सकते हैं प्रोफेशनल नेटवर्क में आप अपने जैसे लोगो के साथ मिलते हैं जिससे की आपको बहुत जयादा फायदा हो सकता है।

क्युकी आप अपने ज्ञान को उन सारो के साथ शेयर करोगे और वो आपके साथ जिससे आपको नयी जानकारी नए तरीको के बारे में पता चलेगा जो की आपके लिए बहुत अच्छा रहेगा ।

इससे आपको और एक फायदा होगा और आपके नेटवर्क को हो सकता है वो है बिज़नेस करने का अवसर ब्लॉग बनाने के लिए आपको बहुत सारी जीजो का ज्ञान होना जरूरी होता है जैसे की SEO ,Video production ,social media मैनेजमेंट आदि जिसे आप अपने नेटवर्क की मदत से आसानी से सिख सकते हैं और बिज़नेस शुरू कर सकते हैं ।

ब्लॉगिंग की कुछ मूल बातें और जरुरी निवेश

ब्लॉगिंग की मूल बातें

जैसा की मैंने आपसे पहले भी कहा की ब्लॉग्गिंग आज के इस युग में बस्सनेस की तरह है और इसे करने के लिए आपको इसकी मुलभुत बातो का पता होना बहुत जरुरी है।

ब्लॉग्गिंग करने के लिए आपके पास ब्लोगिंग करने के लिए बिषय को पका करना Domain name और Hosting लेना और अपने विषयसे से सम्बंधित content बनाना बहुत जरूरी है।

किसी भी ब्लॉग की सफलता 80 % तक सिर्फ और सिर्फ उस ब्लॉग पे लिखे हुए content से ही होती है। इसके इलावा आपको अपने ब्लॉग की मार्केटिंग करना ,SEO करना और अपने ब्लॉग का प्रचार करना बहुत जयादा जरुरी है।

इस तरह से आप अपने ब्लॉग को बहुत ही कम समय में जयादा लोगो तक पंहुचा पाएंगे।

ब्लॉग शुरू करने के लिए मुख्य बाते

  1. अपने ब्लॉग के बिषये को पका करना
  2. ब्लॉग के हिसाब से Domain लेना और hosting लेना
  3. ब्लॉग कंटेंट के लिए रिसर्च करना
  4. अपने जैसे और ब्लॉग को रिसर्च करना और अपने ब्लॉग के लिए योजना बनाना

ब्लॉगिंग के लिए जरुरी निवेश

ब्लॉगिंग शुरू करने के लिए आपको कुछ न कुछ निवेश करना बहुत आवश्यक है चाहे वह समय कानिवेश हो या थो आपके पैसे का ब्लॉग्गिंग एक ऐसा काम है जिसमे आपको आपके ज्ञान का आपके कौशल का प्रयोग होता है चाहे आपके पास कोई साधन हो या न हो आप ब्लॉग्गिंग को बड़ी आसानी से शुरू कर सकते हैं।

आपको ब्लॉग शुरू करने के लिए एक domain नाम लेना बहुत जरुरी है चाहे आप hosting लो या न उससे इतना फर्क नहीं पड़ता क्युकी आप सोचिये अगर आप अपना नाम बार बार बदलोगे तो क्या होगा आप अपने साथ साथ औरो को भी कन्फुज कर दोगे की आपका सही नाम क्या है ऐसा ही आपके ब्लॉग के साथ होगा क्युकी आप किसी फ्री प्लेटफार्म पे जा के ब्लॉग सुरुकेर सकतेहैं पैर वहां पर आपको जो domain मिलेगा उसे आप हमेशा के लिए अपने पास नहीं रख सकते इस लिए आप अपनी पसंद का कोई भी domain खरीद कर लेंगे तो बहा आपके साथ ही रहेगा चाहे आप ब्लॉग कैसे भी बनाये जो की लम्बे समय के लिए जायदा सही होता है।

आपका दूसरा और जरुरी निवेश अपने ब्लॉग के लिए आपका टाइम होगा क्युकी ब्लॉग का मतलब ही है अपने यूनिकज्ञान को लोगो के साथ बांटना जो की सिर्फ और सिर्फ आपके ब्लॉग पोस्ट बना के ही संभव है इस्सके साथ साथ आपको अपने ब्लॉग को एक ब्रांड की तरह लोगो के सामने रखना है जो की तभी हो सकता है जब आप अपने ब्लॉग की जानकारी भिन्न भिन्न प्रकार से सोशल मीडिया जैसे Facebook ,twitter ,और जैसे वेबसाइट पैर शेयर करना चाहिए चाहे आप वीडियो बांये या फोटो शेयर करे इससे आपके बारे में आपकी वेबसाइट के इलावा भी लोग आपको जानना शुरू करोगे।

ब्लॉग शुरू करने से पहले याद रखने योग्य बातें

ब्लॉग शुरू करने से पहले आपको कुछ बातो का विशेष धयान रखना चाहिए ताकि आप सही तरीके से सही सोच के साथ अपने ब्लॉग को चला सके।

ब्लॉग्गिंग के लिए आपके पास सब्र होना चाहिए

जब आप ब्लॉग्गिंग शुरू कर रहे हैं तब आपके अंदर सब्र होना चाहिए इसकी मुख्य बजह है ब्लॉग्गिंग करियर के रूप में ाचा खासा समय लेता है क्युकी ये भी एक आदमी की तरह ग्रो होता है समय के साथ न आप एक ही दिन में 50 से 60 पोस्ट लिख सकते हो ना ही घंटो सोशल मीडिया में अपने पोस्ट प्रोमोट केर सकते हो या अपना ब्रांड ब्लॉग सेटअप कर सकते हो।


जिस तरह से किसी भी फल का पौधा फल देने से पहले समय लेता है उसी तरह आपका ब्लॉग भी टाइम लेता है ग्रोव होने के लिए इस लिए आपके पास सब्र होना चाहिए और उसी मानसिकता के साथ आपको ब्लॉग शुरू करना चाहिए और चलाना चाहिए।

आपको बहुत सारा कंटेंट बनाना पड़ेगा

आपका ब्लॉग एक मोतिओं की माला की तरह है जिसमे आप एक एक कर के कंटेंट पोस्ट के रूप में मोती पिरोते है।एक कामयाब ब्लॉग को बनाने के लिए आपकी वेबसाइट में एक से जयादा कंटेंट होना चाहिए ताकि वह अपने बिषय को अच्छे से लोगोके सामने रख सके इस्सके साथ साथ आपको अपने ब्रांड को लोगो तक पहुंचाने के लिए अपने ब्लॉग को प्रोत्साहित करने के लिए और वेबसाइट और सोशल मीडिया के लिए आपको भिन्न प्रकार का कंटेंट बनाना पड़ेगा वो अलग अलग सोशल मीडिया के लिए एक जैसा भी हो सकता है मतलब यह है की आप यदि कुछ फोटो Facebook के लिए बनाये हैं वो आप और प्लेटफार्म पे भी पोस्ट कर सकते हैं।

आपके लिए लेख ही सब कुछ है

आप सोच रहे होंगे की ये किस तरह का शीर्षक है पर मान लीजिये की आपके लिए यही सब कुछ है क्युकी आप ज्ञान दे रहें हाँ जानकारिया दे रहें हाँ लोगो को जो की तभी सम्भब है जब आप अपने ब्लॉग पे ढंग से आर्टिकल डालगे और वह पढ़ने में अच्छे और देखने में डरावने न लगे

ऐसा क्यों?

क्युकी आज कल के ज़माने मे लोगो को जानकारी जल्दी अच्छी और पूरी मिलनी चाहिए उसे आपको इस ढंग से लिखना चाहिए ताकि वह जयादा से ज्यादा लोगो तक पहुंचे और लोग उसे पढ़े ।

आपके साथ साथ उनका भी विकास हो इस लिए आपके लिखे गए लेख ही सभ कुछ है और हम ये बात पहले भी कर चुके हैं जिसमे बताया गया की आपकी ब्लॉग की कामयाबी 80 % तक आपके लेख के ऊपर ही निर्भर करती है।

आपको बहुत सारा त्याग (sacrifice) करना पड़ेगा

जी हाँ दोस्तों आपने सही पढ़ा, आप कहे तो किसी तरह का काम कर लीजिये आपको अगर उसे सही से करना है आपको उसमे बेहतर बनना है तो आपको मेहनत तो करनी ही पड़ेगी क्युकी आप कुछ ऐसा कर रहे हो जो आपने पहले कभी नहीं किये चाहे वो एक ब्लॉग बनना हो या फिर कोई भी प्रकार का नया बिज़नेस करना उसके लिए आपको कुछ त्याग करने ही होंग।

चाहे वो समय का त्याग हो या फिर पेसो का आपको मेहनत तो करनी ही होगी।साथ ही साथ आपको उस महेनत को उस काम को लगातार करना होगा ताकि उसस्के कुछ बहुत बेहतर परिणाम निकल सके।

ब्लॉग शुरू करने के लिए सही प्लेटफॉर्म

यदि आप इसे पढ़ रहे हो तो मतलब यह है की आपने ब्लॉग शुरू करने का निर्णय ले लिया है और आप जानना कहते हैं की 2021 में कौन सा ऐसा प्लेटफार्म है जिसमे आपको ब्लॉग शुरू करना चाहिए आपका यह निर्णय की आपको किस प्लेटफार्म पे आपने ब्लॉग शुरू करना चाहिए बिकुल सहि है ऐसा इस लिए आपके हिसाब से आपके लिए कौन सा प्लेटफार्म सही है यह जानना बहुत जरुरी है क्युकी आपकी जरूररत के हिसाब से यह अलग अलग हो सकता है।

आप 2021 में कौन से सबसे अच्छे प्लेटफार्म से आपने ब्लॉग को शरू करंगे इससे पहले हमें एक अच्छे प्लेटफार्म के बारे में पत्ता होना बहुत जरुरी है।

सबसे सही प्लेटफार्म के लिए मापदंड

आपका ब्लॉग्गिंग प्लेटफार्म आदर्श हो इसके लिए उसमे कुछ खास विशेषता होनी चाहिए ताकि आप अपनी जरुरत और ज्ञान के आधार पैर उसका प्रयोग केर सके और पूरा फायदा उठा सके। आपके लिए कौन सा प्लेफॉर्म सही है ये आपके ऊपर निर्भर करता है आप किस प्रकार की ब्लॉग्गिंग कर रहे हो आप एक जाक्रिया देने वाला ब्लॉग खोल रहे हो जा खबरे देने वाला या फिर आप एक ऐसी वेबसाइट खोलना कहते हो जिसमे आप जानकारी के साथ साथ उसमे कुछ अपना सामान भी बेचोगे या फिर औरो का सामान इसके साथ साथ क्या आपज्जन्ते हो तकनिकी रूप से की वेबसाइट काम कैसे करती हैं या फिर आप किसी प्रकार की कोडिंग बगेरा जानते हो इन सभ बातो का धयान रख के ही हम लोग ये निर्धारित कर सकते हैं की हमें कौन से प्लेटफार्म को चुनना चाहिए।

ब्लॉग्गिंग प्लेटफार्म के कुछ विशिष्ट गुण

  1. आसानी से प्रयोग करने योग्य

जैसा की मेने आपसे कहा की ब्लॉग्गिंग कोई भी कर सकता है परन्तु जब कोई ऐसा व्यक्ति ब्लॉग्गिंग करता है जिसे जयादा तकनिकी चीजों का ज्ञान न हो तो उसके लिए ब्लॉग्गिंग करना बहुत मुश्किल हो जाता है क्युकी आपको आपने ब्लॉग पे बार बार बदलाव करने होते हैं जो की आपके लिए मुश्किल हो सकता है अगर आपको तकनिकी जानकारी पता न हो इस लिए आपका ब्लॉग्गिंग इतना आसानी से प्रयोग करने योग्य हो की उसमे आपको कम से कम तकनिकी ज्ञान की अबस्यकता हो।

2. उसमे बहुत सारी सुबिधाएं हो

आप जो भी प्लेटफार्म अपने ब्लॉग के लिए प्रयोग करेंगे उसमे किसी भी प्रकार की कमी सुबिधाओ को लेकर नहीं होनी चाहिए क्युकी इससे आपको नुकसान हो सकता है हो सकता है आपको गूगल SERP में कम रैंकिंग मिल सकती है।
इस लिए सोच समझ कर हमें अपने ब्लॉग्गिंग प्लेटफार्म को चुनना चाहिए।

3. बढ़ने की जगह

बढ़ने की जगह से मेरा मतलब है आपकी वेबसाइट या आपके ब्लॉग के लिए यदि आपको किसी प्रकार के खास प्रकार का फीचर चाहिए तो आपका प्लेफॉर्म भिन्न भिन्न प्रकार की एडिटिंग कर सके और कोडिंग कर के आप अपने ब्लॉग को जैसा चाहे वैसा बना सकते है।

अब हम आपको कुछ 5 अच्छे ब्लॉग्गिंग प्लेटफार्म के बारे में बतायेगे

5 सर्वश्रेष्ठ ब्लॉगिंग प्लेटफ़ॉर्म की सूची

WordPress

नए ब्लॉगर के लिए WordPress से अच्छा प्लेटफार्म नहीं हो सकता इसकी सबसे बड़ी और खास बात यहाँ है की यह इतने सारे फीचर होने के बाद भी फ्री है इसकी मुख्य वज़ह है इसका कोड ओपन सोर्स होना जिस बजह से ये आपने आप में विल्कुल फ्री है। WordPress सबसे पहले 2003 में सामने आया था और तब से आज तक इसमें हज़ारो लाखो ब्लॉग इसमें ओपन हो गए हैं और ये आज बहुत जयादा प्रचलित है।

WordPress के दो अलग अलग रूप है एक पूण रूप से फ्री है यह दो रूप और है इसमें से WordPress.org फ्री है जबकि WordPress.com पूण रूप से फ्री नहीं है

खास बात यहाँ है की आपको WordPress.org में पूण स्वतंत्रता मिलती है की आप जैसा चाहे वैसा ब्लॉग बना सकते हैं।

यदि आप सोच रहे हैं की आपको एड्स के द्वारा पैसे कमाने हैं तो आपके लिए com एक अच्छा विकल्प नहीं हो सकता क्यकि उसमे com खुद एड्स लगते हाँ हर प्रकार से org एक अच्छा विकल्प है जो की मुफ्त है आसानी से प्रयोग किया जा सकता है और इससमे कोई किसी प्रकार कि कोई बंदिश भी नहीं है।

WordPress.org की कुछ खास विशेषताएं

  • आप अपनी वेबसाइट के हर पहलू को WordPress.org में नियंत्रित कर सकते हैं।
  • आप इसमें आसानी से नए और जरुरी फीचर Plugin की मदत से डाल सकते हैं।
  • आप अपने ब्लॉग की दिखाबट बड़ी आसानी से अलग अलग Themes की मदत से बदल सकते हैं।
  • WordPress.org में आपको अपनी इच्छा के अनुसार Settings मिलती है जिससे आपके ब्लॉग को SEO में फायदा मिलता है।

WordPress.org की कुछ कमिया

  • आपको अपना domain लेना पड़ेगा ।
  • आपको अपनी Hosting भी लेनी पड़ेगी ।
  • कुछ खास फीचर के लिए आपको कोड लिखना या लिखना होगा जिसके लिए पैसे लगेंग।
  • आपको WordPress.org सीखना होगा 1 या 2 महीने प्रयोग के बाद आप बड़ी आसानी से अपने ब्लॉग को चला पाओगे।
WordPress.org Ratings

Blogger

ब्लॉगर एक और ऐसा प्लेटफार्म है जिसके द्वारा आप अपनी वेबसाइट अपना ब्लॉग बना सकते हैं और सबसे खास बात यह है की ये google की तरफ से है मतलब यह है इसका मालिक Google है और आपको फ्री में ब्लॉग होस्ट करने की सुबिधा देता है।

ब्लॉगर WordPress की तरह ही फ्री परन्तु इसमें आपको पूर्ण रूप से आप इससे कण्ट्रोल नहीं कर सकते इससमे कुछ खामिया है जिस कारन से आपको ब्लॉगर इतना अच्छा नहीं लगेगा।

ब्लॉगर की एक और खास बात है इसमेआपको अनलिमिटेड hosting फ्री में मिलती है मतलब यह है की आपको hosting के पैसे नाहीदेने हैं साथ हि साथ blogspot.com का फ्री Subdomain भी मिलता है

ब्लोगेर को 21 साल पहले 1999 में में बनाया गया था और 2003 में गूगल ने इसे खरीद लिया था। सबसे बड़ी दिकत जो ब्लॉगर के साथ है वो है इसमें पयेजनने वाली खामिये जैसे आप अपने हिसाब से URL Structure नहीं रख सकते और इसमें पाए जानी वाली थीम्स भी बहुत बहुत काम है और जायदा तकनिकी ज्ञान का होना बहुत जरुरी है।

ब्लॉगर उन लोगो के सही है जो पैसे नहीं खर्च सकते या फिर अभी शुरुआत कर रहे हैं उन्हें अपना Custom Domain ले कर और उससे ब्लॉगर के साथ जोड़ कर ब्लॉग्गिंग शरू की जा सकती है।

Blogger.com की कुछ खास विशेषताएं

  • ब्लॉगर पूर्ण रूप से फ्री प्लेटफार्म है।
  • इसमें आपको फ्री Blog spot sub डोमेन मिलेगा।
  • आपको अगर एक सरल ब्लॉग बनना है तो जयादा तकनिकी ज्ञान जरुरी नहीं है।

Blogger.com की कुछ कमिया

  • आप इसमें कोई भी नए और जरुरी फीचर Plugin की मदत से नहीं डाल सकते हैं।
  • ब्लॉगर एक पुराना प्लेटफार्म है और बहुत समय से अपडेट नहीं हुआ है।
  • आपको थोड़ा सा भी बदलव यदि आपने ब्लॉग में करना है तो आपको तकनिकी ज्ञान होना जरुरी है क्युकी आपको इसके लिए कोड लिखना जरुरी होगा।
  • गूगल के ब्लॉगर में जो आप अपने ब्लॉग को बनाते हाँ आप उसके मालिक नहीं होते हैं।
Blogger.com Ratings

Wix

विक्स एक और ब्लॉग पब्लिशिंग प्लेटफार्म है जिसमे आप अपना भिन्न भिन्न प्रकार के ब्लॉग बना सकते हैं इतना हि नहीं आप e -कोमर्स वेबसाइट भी इस प्लॅटफॉम में बना सकते हैं।

विक्स एक ऐसा प्लेटफार्म है जिसमे आपको पैसे देने पड़ते हैं अपना खुद का ब्लॉग शुरू करने के लिए जी हाँ दोस्तों आपने बिलकुल सही पढ़ा की विक्स एक फ्री प्लेटफार्म नहीं है और आपको हर महीने अपने मूल्य निर्धारण के हिसाब से पैसे देने होते हैं।

ये वर्डप्रेस की तरह ही काम करता है परन्तु वर्डप्रेस हर तरह से विक्स से अच्छा है जो की पूरी तरह से फ्री भी है और जयादा फीचर भी है।

Wix.com की कुछ खास विशेषताएं

  • इसमें आपको फ्री Blog spot sub डोमेन मिलेगा।
  • आपको अगर एक सरल ब्लॉग बनना है तो जयादा तकनिकी ज्ञान जरुरी नहीं है।

Wix.com की कुछ कमिया

  • आप इसमें कोई भी नए और जरुरी फीचर Plugin की मदत से नहीं डाल सकते हैं।
Wix.com Ratings

Drupal

Drupal एक और ऐसा प्लेटफार्म है जिसमे आप अपना ब्लॉग सेटअप कर सकते हैं यह प्लेटफार्म वर्डपरेस की तरह ही काम करता है।

यह भी वर्डप्रेस कीतरहा एक फ्री प्लॅटफॉम है इसमे आपको किसी भी तरह की फी नहीं देनी पड़ती है।

Drupal को हर कोई प्रयोग नहीं कर सकता इसकी मुख्य बजह है इसमे मिलने वाला सपोर्ट क्यकि इसे कम लोग प्रयोग करते हैं जिस कारण से आपको इसमें मिलाने वाले plugin और guidance बहुत कम है।

इसे प्रयोग करने के लिए या तो आपको किसी वेब डेवलेपर को इस काम के लिए रखना पड़ेगा या तो फिर आपको आपने आप वेब डेवलपमेंट सीखनी पड़ेगी जो की एक नए ब्लॉगर के लिए यह ठीक नहीं है।

इसी लिए इसका प्रयोग या तो तब करना चाहिए जब आपका ब्लॉग बड़ा हो गया हो और डेवलपमेंट का खर्चा उठा सके या आपको खुद डेवेलॉपेनत आती हो।

बड़ी वेब्सीटेस के लिए ड्रुपल एक अच्छी चीज हो सकती है क्युकी इसे आपके ब्लॉग को एक अलग पहचान मिलेगी और इसके कॉन्टेंट को एक नार्मल कस्टम वेबसाइट की तुलना में जयादा आसानी से प्रयोग केर पाएंगे।

Drupal की कुछ खास विशेषताएं

  • इसमें आपको फ्री Blog spot sub डोमेन मिलेगा।
  • आपको अगर एक सरल ब्लॉग बनना है तो जयादा तकनिकी ज्ञान जरुरी नहीं है।

Drupal की कुछ कमिया

  • आप इसमें कोई भी नए और जरुरी फीचर Plugin की मदत से नहीं डाल सकते हैं।
Drupal Ratings

Shopify

Shopify भी एक प्लेटफार्म है जिसकी मदत से आप अपना कंटेंट या प्रोडक्ट अपनी खुद की वेबसाइट पे लिस्ट करसकते हैं इसका प्रयोग जयादा तर नए लोग अपनी eCommerce वेबसाइट को चलाने के लिए करते हैं इसमें आपको हर प्रकारकी सुबिधा दी जाती है ताकि आप अपनी बिज़नेस वेबसाइट जिसमे ब्लॉग पोस्ट के साथ साथ अपने प्रोडक्ट को दिखा सके।

Shopify की कुछ खास विशेषताएं

  • इसमें आपको फ्री Blog spot sub डोमेन मिलेगा।
  • आपको अगर एक सरल ब्लॉग बनना है तो जयादा तकनिकी ज्ञान जरुरी नहीं है।

Shopify की कुछ कमिया

  • आप इसमें कोई भी नए और जरुरी फीचर Plugin की मदत से नहीं डाल सकते हैं।
Shopify Ratings

मास्टर ब्लॉग सेटअप गाइड

अब आपको एक एक करके सारे जरुरी कदम बतायेगे जोकिआपके ब्लॉग को बनाने के लिए जरुरी है इससमे आपको पूरी जानकारी दी जाएगी की आप अपना पहला ब्लॉग कैसे बनाओगे और अपनी self learn यात्रा को कैसे शुरू करोगे।

अपने ब्लॉग के लिए एक Niche (अनुकूल विषय) को चुनें

तो अब हम अपने पहले ब्लॉग को शुरू करने केलिए तैयार है जिसके लिए हमें पता होना चाहिए की हमें किस विषय पर अपने ब्लॉग को शुरू करना चाहि। कौन सी भाषामे हमें ब्लॉग पोस्ट लिखनी चाहिए।हमें अपने आप से कुछ प्रश्‍न पूछने हैं।

  • हमें कौन सी भाषा मे ब्लॉग बनाना है ?
  • हमें किस तरह के बिषय पसंद हैं और क्या उसपे पोस्ट लिख सकते हैं ?

जब आप इन प्रशनो के उतर दे दोगे तो हो सकता है की आपको अपने पहले ब्लॉग के लिए कोई नकोई विषय मिले ही जायेगा जो की किसी ऐसे विषय से मिले जिसमे आपको पहले से ही रूचि हो जैसे की किसी प्रकार का खेल (क्रिकेट) या आपको हो सकता लोगो को जानकारी देना पसंद हो जिससे आपको अपने ब्लॉग के विषय को जाने में आसानी होगी।

यदि आपको इस तरह से कोई विषय नहीं मिलता है तो आपको पेन और कागज़ ले कर जिस जिस विषय के बारे में जानकारी है उसे एक एक करके लिखना शुरू करना चाहिए और हरेक विषय के आगे १ से लेकर १० तक उस विषय की जानकारी और समज़ह के हिसाब से उसे नंबर देना चाहिए और जब आप ये कर ले तो हो सकता है आपको १ से २ दिनों का समय लगे इतना समय देने के बाद आपको उन विषयो को चुनना चाइये जिसे अपने ७ या उससे जयादा का नंबर देना चाहिए जिससे आपके पास उस विषय को लेकर भरपूर जानकारी हो।

ब्लॉग का प्रकार

इसके आगे हम बड़े हमें पत्ता होना चाहिए की ब्लॉग कितने प्रकार के होते हैं इससे भी हमें आपने ब्लॉग के विषय या किस प्रकार की वेबसाइट बन्ननी चाहिए पता चलेगा।

यदि हम ब्लॉग में किये जाने बाले विषय के आधार पे इस्सके बाजीकरण करे थो ये ५ प्रकार की हो सकती है।

  • static वेबसाइट
  • Multi niche वेबसाइट
  • single niche वेबसाइट
  • Micro niche वेबसाइट
  • Tool वेबसाइट

इस तरह से हम अपने ब्लॉग के विषय के आधार पर इन ५ तरीको में बाँट सकते हैं। और इन्हे एक एक करके विस्तार से समज़हाने की कोशिश करंगे।

static वेबसाइट

यह वो वेबसाइट होती हैं जिसमे आपको जयादा कंटेंट नहीं लिखना पड़ता इन वेबसाइट का काम पूर्व निर्धारि होता है ये वेबसाइट सिंगल पेज वेबसाइट भी कहलाई जाती है इन्हे बनने के लिए आपको coding आना बहुत जरुरी है। इन वेबसाइट के मुख्य उदाहरण है landing sales pages या forms जानकारी इकठा करने के लिए आदि।

Multi niche वेबसाइट

यह वो वेबसाइट होती है जिसमे किसी एक से जयादा विषय के बारे में जानकारी होती है जैसे की न्यूज़ वेबसाइट जिस्मे अलग अलग प्रकार के विषयो पे जानकारी दी जाती है। इस तरह की वेबसाइट चला पाना बहुत मुश्किल काम होता है क्युकी इससमे आपको एक से जयादा विषयो की जानकारी होनी चाहिए आपको बहुत सारा कंटेंट इसमें लिखना पड़ता है इसे गूगल पे रैंक करना भी मुश्किल होता है क्युकी की आप एक साथ बहुत से विषयो के बारे में जानकारी दे रहे हो जिससे गूगल को ये समज़हाने में मुश्किल होती है की आपकी वेबसाइट को किस तरह से देखे वह किस तरह समजे की आप की चीज में विषष्ज्ञ हाँ और इसी कारन आपकी वेबसाइट को रैंक करने में समय लग सकता है।

Single niche वेबसाइट

इस प्रकार की ब्लॉग वेबसाइट की खास बात ये है की आपको सिर्फ किसी एक विषय पे ब्लॉग बनाना है और उसी से सम्बंधित कंटेंट अपनी वेबसाइट पे डालना है इसी बजह से इस्पे काम करना बहुत आसान हो जाता है क्युकी इस्पे हम कम कंटेंट डाल के जयादा रैंकिंग गूगल पे ले पाएंग।

Micro niche वेबसाइट

माइक्रो niche वेबसाइट ऐसी वेबसाइट होती है जिसमे यदि हम किसी विशेष विषय को और छोटे विषयो पे तोड़े तो हमें माइक्रो niche विषय मिलता है इसकी खास बात ये है की आपको इसमें बहुत ही कम काम करना पड़ता है और आप जल्दी ही गूगल पे रैंक करने लग जाते हो। इस तरह की वेबसाइट में आपको अपने कंटेंट पे जयादा धयान देना चाहिए क्युकी इससमे आपको कम SEo करना पड़ता है जिससे आपको बहुत लाभ मिलता है।

Tool वेबसाइट

यह कुछ खास वेबसाइट होती है जिसमे आपको कंटेंट के बजाये किसी प्रकार का ऑनलाइन उपकरण प्रदान करना होगा ताकि आप उसे अपने वेबसाइट पे डाल कर लोगो को अपनी और आकर्षित कर सके इस्सकी एक मुश्किल बात यह है की इससे सिर्फ एक बार इतने अचे और अद्वितीय तरीके से करना है की आप इसमें सफल हो जाये आपको ये समजहांना होगा की आपको किस प्रकार का डिजिटल उपकरण बनना है जो लोगो की दिकत को दूर कर सके आपको इसे बनाने के लिए या तो कूद coding आणि चाहिए या आपको किसी को इस काम के लिए पैसे देने होंगे ताकि आप ये उपकरण देने होंगे इस तरह की वेबसाइट पे न ही कंटेंट डालना होता है न ही SEO करना होता है बास आपको एक आकर्षक अद्वितीय उपकरण बनाना है जो इंटरनेट पे लोगो की मदत कर सके।

इस जानकारी से आपको अपने ब्लॉग के विषय के बारे में सोचने में मद्दत मिलेगी ताकि आप समज़ह सके की आपके लिए किस प्रकार का ब्लॉग सबसे आसान होगा चलना।

ब्लॉग के विषय को चुनने के लिए हमें किन किन बातो का ध्यान रखना चाहिए

जैसा की आपको पता है की आपको अपने लिए एक ब्लॉग बनना है जिसके लिए जरुरी होता उस ब्लॉग में दी जाने वाली जानकारिये ताकि लोगो को उससे फायदा पहुँच सके ।

ऐसे विषय सोचिये जिसमे आपको रूचि हो

कोई भी ब्यक्ति उस विषय के बारे में जानकारी नहीं दे सकता जिसे वो खुद नहीं जानता हो इसलिए विषय ऐसा हो जिसमे आपकी रूचि हो तो काम बहुत आसान हो जाता है क्यकि उस विषय पर आप बहुत सारा कंटेंट लिख सकते हो इस विषय पे हम पहले भी बात केर चुके हैं

आप क्या नया सीखना चाहते हो इससे भी आप अपने ब्लॉग के विषय को ढूंढ पाओगे क्युकी सीखने का सबसे आसान तरीका लोगो को उसके बारे में कुछ न कुछ सीखा के जल्दी और अच्छी तरह से सिख सकते हैं।

अपने ब्लॉग के लिए अवसर खोजें

जब आप अपने ब्लॉग के लिए किसी प्रकार के विषय को सोचते हैं तो उस विषय की प्रतियोगिता के बारे में सोचना बहुत जरुरी हो जाता है ताकि आपको यह पता चल सकते की आपके द्वारा किया जाने वाला परिश्रम ब्यर्थ न जाये आपको पता हो की इन प्रयासों से आप अपनी वेबसाइट को गूगल जैसे सर्च इंजन पर इंडेक्स और रैंक करवा सके ताकि आपकी वेबसाइट लोगो तक पहुँच सके और आपके लिए पैसे बना सके।
हर एक ब्लॉग पोस्ट किसी ना किसी मुख्य टॉपिक पे लिखी जाती है और उन मुख्य विषयो को बताने के लिए कुछ शब्दों या बाक्यो का प्रयोग किया जाता है इन्हे टारगेट कीवर्ड (Target keyword ) कहा जाता है। इनकी मदत से ही गूगल को समज़ह आता है की आपने किस विषय पे कंटेंट लिखा है।

इन कीवर्ड का सर्च वॉल्यूम होता है मतलब यह है की किस कीवर्ड को एक महीने में लोगो के द्वारा कितनी बार सर्च किया जाता है जितना जयादा सर्च वॉल्यूम होगा उतनी जयादा लोग आपकी वेबसाइट पे उस कीवर्ड की जानकारी लेने के लिए लोग आएंगे।

आपको इस बात का भी ध्यान रखें चाहिए की जो टॉपिक आप आपने ब्लॉग के लिए चुन रहे हाँ उसमे प्रतिस्पर्धा भीबहुत जयादा होगी और पैसे भी इस लिए शुरू में आपको कम प्रतिसपर्दा बाले विषय को चुनना है।

आप अपना अंतिम निर्णय लीजिये

अपनी पसंद को समज़ह के जिसमे आपको जयादा जानकारी हो और आप उस विषय के बारे में पूरी तरह से पड़ताल करने के बाद आपको फैसला लेना चाहिए की आपको कौन से विषय पे अपना ब्लॉग को शुरू करना चाहिए।
आपको अपने ब्लॉग के Ninch को ढूंढने केलिए कम से काम १ हफ्ते का समय लेगा कर अच्छे से एक एक चीज को देखना चाहिए उसमे होने वाली प्रतियोगिता ब्लॉग से होने वाले लाभ।

इसके बाद हम डोमेन और होस्टिंग के बारे में बात करेंगे

अपने ब्लॉग के लिए एक डोमेन नाम और होस्टिंग चुनना

इससे पहले हम ये समझे की हमे किस तरह से अपने डोमेन नाम को लेना हमें अपनी वेबसाइट का क्या नाम रखना है हमें ये समज़हना होगा की डोमेन नाम क्या है और ये कैसे काम करता है।

इंटरनेट के शुरू के दौर में जब एक कंप्यूटर को किसी दूसरे कंप्यूटर से कनेक्ट करना होता था थो उसे IP address की जरुरत होती है ये आपके घर के जैसा होता है जैसे हरेक घर का आपने एक यूनिक एड्रेस होता है ठीक वैसे ही हर वो इलेक्ट्रॉनिक यन्त्र जो इंटरनेट से कनेक्ट करता है उसका अपना एक IP address होता है ताकि हर कम्यूटर की उनिउए पहचान बन सके और वेबसाइट भी इन कंप्यूटर की मदत से चलती है जिसमे एक ख़ास तरह के कंप्यूटर का प्रयोग होता है जिसे Server या server कंप्यूटर कहे सकते हैं।

अब इन IP address को याद रख पाना कठिन होता है और हरेक वेबसाइट का IP address भी यूनिक होता है इसी लिए इन्हे ख़ास नाम दिए जाते हैं जिसे आपका ब्राउज़र IP address में बदलता है और इन नामो को Domain ,वेबसाइट बगेरा कहते हैं और इन्हे याद रखना भी आसान होता है।

जैसे हमारी वेबसाइट का नाम Uniquegyan.com है।

इसी तरह से आपको भी एक डोमेन लेना होगा ताकि आप आपने पहला ब्लॉग चला सके।

सर्वश्रेष्ठ डोमेन नाम को चयन करने के लिए मापदंड

यदि आपको अपने ब्लॉग के लिए एक सर्वश्रेष्ठ डोमेन लेना है थो आप ये आसान तरीका अपने ब्लॉग के लिए भी अपना सकते हैं डोमेन नाम भी आपके content ninch की तरह ही जरुरी होता है क्यकि ये आपके ब्रांड और SEO को दिखता है जिससे पता चलता है की आप किस प्रकार का कंटेंट लिख रहे हो इससे आपकी सृजन-क्षमता (creativity ) का भी पता चलता है की आप कितना अच्छा और यूनिक डोमेन लेते हो।

  • .Com एक्सटेंशन लेने की कोशिश करे।

यदि आपको एक डोमेन नाम लेना है तो वो डॉटcom डोमेन होना चाहिए क्युकी ये एक टॉप लावेल डोमेन है (TLD ) और सबसे जयादा प्रयोग होने वाला डोमेन है ये इतना प्रसिद्ध है की आपको आपके पसंद का डोमेन आसानी से नहीं मिलेगा क्युकी जायदा तर अच्छे डोमेन को किसी न किसी के द्वारा पहले ही खरीद लिया गया है और अब वो बहुत जयादा महंगे बिकते हैं यही पे आपकी सृजन-क्षमता (creativity ) की अच्छे से जाँच होगी की आप किस तरह से आपने डोमेन को लेते हो।

आम तोर पे आपको डॉटcom डोमिन 400 रुपए से 1000 रुपए तक मिल जायेगा परन्तु यदि आप आपने पहला डोमेन खरीद रहे हैं तो आपको ये सिर्फ 100 रुपए से 450 रुपए के बिच भी मिल सकता है।

ऐसा नहीं है की यदि आप कोईऔर एक्सटेंशन लेते हो तो आपको किसी प्रकार का नुकसान हो जायेगा या आपकी वेबसाइट रैंक नहीं कारगी पैर। com एक्सटेंशन से आपकी वेबसाइट ब्रांडेड और अच्छी लगेगी।हमारी वेबसाइट भी एक डॉटcom एक्सटेंशन वाली वेबसाइट है जो की उनके भी है।

इसके इलावा आप org net in io जैसे डोमेन नाम भी ले सकते हैं ये डोमेन भी अच्छे खासे प्रसिद्ध हैं।

  • अपने डोमेन नाम में कीवर्ड शामिल करें।

जब आप आपने ब्लॉग के लिए विषय निर्धारित कर रहे थे तो आपके दिमाग में कुछ न कुछ शब्द उस विषय से सम्बंदित आये होंगे और जैसा हमने पहले भी बतया था की आपने वो अपनी नोटबुक या किसी कागज़ में लिखे होंगे तो अब आपको उन शब्दों का प्रयोग करना होगा ताकि आप एक डोमेन नाम खोज सके।

इससे पहले की आप डोमिन नाम खोजे आपको पता होना चाहिए की डोमेन नाम किस प्रकार के होते हैं।

  1. सटीक मेल खाते डोमिन नाम

ये वो डोमेन होते हैं जो आपके ढूंढे गए विषय से मेल कहते हैं इसी लिए ये सटीक मेल खाते डोमिन नाम कहलाते हैं ये डोमेन नाम गूगल पे जल्दी रैंक हो जाते हैं और इससमे मिलाने वाला कंटेंट इसके नाम से मेल खता है तो लोगो का आपके वेबसाइट पे आने की संभावना भी बढ़ जाती है। ये उस विषय के keyword को डायरेक्टली टारगेट करते हैं इसी लिए ये जल्दी रैंक हो जाते हैं।

  1. आधे मेल खाते डोमिन नाम

ये डोमेन नाम पहले वाले की ही तरह होते हैं पैर पूरे रूप से नहीं क्युकी इन्हे आपके ढूंढे हुआ विषय के साथ कोई भी और शब्द को जोड़ के बनाया जाता है और पहले वाले से जायदा अच्छे होते हैं। क्युकी ये आपने विषय के साथ साथ और कुछ भी बताते हैं इसी लिए ये अधूरे ब्रांडबाल डोमेन भी कहलाते हैं।

  1. ब्रांडेड डोमेन नाम

ये वो डोमिन होते हैं जिसमे आपके विषय या उसमे पाए जाने वाले मुखय कीवर्ड से कोई लेना देना नहीं है और ये किसी बड़ी वेबसाइट को दर्शते हैं हो सकता है की इनका कुछ मतलब बनता हो पर जरुरी नहीं है की वो मतलब आपके विषय से मिले ये डोमेन नाम आसानी से याद रखने योग्य और छोटे होते हैं। इन् डोमिन का फायदा seo में सीधे थॉर पे बहुत कम होता है पर समय के साथ ये वो मुकाम हासिल कर लेता हैं जिसे ब्रांड कहा जाता है।

जब आप इन तीन बातो का ध्यान रख कर डोमेन लेंगे तो आप आसानी से डोमेन नाम ले पाओगे आपको ये ध्यान रखना है की आप किस प्रकार का ब्लॉग बनाने जा रहे हैं यदि ये एक माइक्रो niche या single पेज वेबसाइट है तो आपको (सटीक मेल खाते डोमिन नाम ) या फिर (आधे मेल खाते डोमिन नाम) ही लेने चाहिए और यदि आप एक ब्रांड की तरह ब्लॉग चलना कहते हैं तो आपको ब्रांडेड डोमेन नामलेने चाहिए।

  • अपने डोमेन को छोटा रखें और उच्चारण करने में आसान

डोमेन नाम आपको और आपकी वेबसाइट/ब्लॉग को दर्शाता है इस लिए आपका डोमेन यूनिक और छोटा होना चाहिए इससे आपके वेबसाइट के यूआरएल स्ट्रक्चर पे फरक पड़ता है जिससे आपके SEO और गूगल रैक्किंग में फरक पड़ता है।

छोटा डोमेन नाम आपको जल्दी याद हो जाता है इसी लिए आपको एक छोटा डोमेन नाम लेना चाहिए।

आपने जो डोमेन लिया वो बिलकुल आसान होना चाहिए बोलने के लिए ताकि आप उसे आसानी से बोल सके और लोगो को एक बार में ही उसके बार्रे में पता लग जाये। आपके डोमेन में किसी भी तरह का कठिन शब्द न हो और डोमेन नाम कठिन होजाये बताने के लिए।

  • इसे अद्वितीय और ब्रांडेड बनाओ

ये कदम आपके पुरे ब्लॉग और उसके डोमेन के लिए बहुत जरुरी है क्युकी यदि आपने गली से भी इसे किया तो आपकी अभी तक की मेहनत बिकुल बेकार हो जाएगी

इसकी मुख्य बजहा होगी आपके दवरा लिया गया डोमेन नाम आपको अपने डोमेन नाम में किसी भी प्रकार का ब्रांडेड वर्ड/ट्रेडमार्क प्रयोग नहीं करना है जैसे की Whats app Facebook government से सम्बंधित नाम किसी विशेष बयक्ति का नाम आदि ताकि आपका ब्लॉग/वेबसाइट बंद होने से बच सके।

  • डोमेन में हाइफ़न और डबल लेटर्स से बचने की कोशिश करें

जब आप अपने ब्लॉग/वेबसाइट के लिए डोमेन ले रहे हो तो आपको इस बात का ध्यान रखना है की आपने उसमे किसी भी तरह का अजीब दिखने वाले अक्षर का प्रयोग नहीं करना है जैसे (-,#,!,&) क्युकी इससे आपका डोमेन नाम बहुत ही ख़राब लगेगा इसके साथ साथ आपको नंबर का प्रयोग भी हो सके तो नहीं करना है ताकि आपका डोमिन बहुत ही सरल हो।

इसके इलावा आपको एक अक्सर को दो बार प्रयोग करने से भी बचाना होगा ताकि आपका डोमेन नाम अच्छा और आकृषक लगे ।

  • विस्तार करने की जगह छोड़ दे

जब आप एक डोमेन नाम ले रहे हो तो आपके विषय अनुसार वह बहुत छोटा नहीं होना चाहिए मतलब ये है की मान लीजिये की आप एक स्पोर्ट्स ब्लॉग बनाने बाले हैं और आपको ये पता है की ये एक ऐसा ब्लॉग है जो multi niche वर्गीकरण में आता है क्यकि इससमे हर प्रकार के स्पॉट्स को कवर किया जा रहा है चाहे वो अन्दर खेलने वाले खेल हो या फिर बाहर या फिर PC गेम्स हो या मोबाइल पे खेले जाने वाले गामे इसी लिए आप इसमें किसी एक गेम को ले कर ब्लॉग बनाओगे जैसे मान लो क्रिकेट अब जब आप डोमेन लोगे तो आपको डोमिन क्रिकेट के ऊपर ही लेना है चाहे आपको अभी उसमे सिर्फ one day के बार्रे में बताओगे जो की एक sub माइक्रो nitch है।
इस तरह से आपको आपने डोमिन लेना है ताकि यदि आपको उसमे और चीजों के बारे में भी बताओगे तो आपको डोमिन न बदलना पड़े।

डोमेन नाम ढूंढने के लिए एक सरल और आसान तरीका

यदि आपको अभी भी किसी न किसी कारण से डोमिन नाम लेने में परेशानी हो रही है तो आपको अपने कुछ ऑनलाइन टूल्स प्रयोग करने होंगे ताकि आप उनका प्रयोग करके एक अच्छा डोमेन ले सको आपको बस उसमे एक मुख्य सब्द डालना है जो आपने उस विषय के सम्बन्ध में खोजा हो और वो टूल आपको अच्छे अच्छे डोमेन बता देगा।

Leandomainsearch.com

इसके इलावा आपको अभी भी यदि कोई डोमिन ना मिले तो आप अपने नाम से भी डोमिन ले सकते हैं या उसे किसी तरह से छोटा करके उसमे अपने मुख्य विषय का शब्द जोड़ के भी डोमेन नाम ले सकते हैं।

तीन सबसे अच्छी वेबसाइट से डोमेन खरीदें

अब आपको अपने लिए ऐसी जगह से डोमेन लेना है जिस पर आप भरोसा कर सको क्युकी यही वो जगह है जिससे आपकी और आपकी वेबसाइट की सत्यता साबित हो पायेगी और आने वाले समय में आप अच्छे से डोमेन ले पाओगे।

Dynadot

Dynadot का प्रयोग कर के आप बड़ी आसानी से डोमेन ले पाएंगे और इस्सके UPI वाला फीचर भारतीय लोगो के लिए बहुत ही अच्छा है क्युकी इसकी मदत से आप बड़ी आसानी से बिन्ना क्रडिट कार्ड के डोमेन नाम ले सकते हो और आप इसमें सिर्फ 500 से 600 रुपए के बिच एक अच्छा डोमेन ले सकते हो इनके प्राइस इतने अच्छे हैं की आप इस्सके इलवा किसी और को विकल्प के रूप में नहीं देखोगे।
इस्सके साथ साथ आपको (TLD ) डोमेन पर फ्री privacy प्रोटेक्शन भी मिलता जो इससे और आकर्षक बनता है।

Namecheap

नाम चीप ये एक जाना माना नाम है जिसके द्वारा आप अपना पहले ब्लॉग के लिए डोमेन नाम ले सकते हैं इसकी खास बात यह है इससमे भी आपको डोमेन प्रोटेक्शन बिलकुल फ्री मेमिलती हैजिससे आपकी पर्सनल जानकारी लोगो को न मिल सके इस्सके साथ साथ इसकी एक और खास बात है इसमें मिलने वाला डोमेन रेनवाल के लिए मिलने बाली कीमत विकुल फिक्स्ड रहती है येऔर डोमेन नाम रजिस्ट्रार की तरह डोमेन नाम का प्राइस नहीं बदलते रहते और इनकी डोमेन की कीमत किसी भी डोमेन नाम रजिस्ट्रार से कम होती है।

GoDaddy

GoDaddy शुरुआत करने के लिए बहुत अच्छा डोमेन नाम रजिस्ट्रार इसके मुख्य बज़ह है यदि आप गोदड़ी में अपना एक नया अकाउंट बनाते हैं तो आपको गोदड़ी में 100 रुपए से भी कम में एक डोमेन नाम मिल सकता है जिसका प्रयोग आप पुरे 1 साल तक करसकते हाँ और बाद में आप इस डोमेन को या थो इसी डोमेन नाम रजिस्ट्रार में renew करवा सकते हो या किसी और डोमेन नाम रजिस्ट्रार पे।

एक सर्वोत्तम होस्टिंग चुनने के लिए मापदंड

आपको अपने नए ब्लॉग के लिए एक अच्छी होस्टिंग का चयन करना है इसे करने के लिए आपको कुछ मुख्य बातो का विशेष ध्यान देना होगा ताकि आप एक अच्छी होस्टिंग ले सके।

इससे पहले की हम बात करे की हमें किस तरह अपने ब्लॉग के लिए होस्टिंग का चयन करना है हमें ये पता होना चाहिए की होस्टिंग क्या होती है हमें ये जान लेना चाहिए।

होस्टिंग क्या होती है।

होस्टिंग एक प्रकार का ऑनलाइन कंप्यूटर होता है जिस्मे आप अपनी पूरी वेबसाइट का डाटा स्टोर और होस्ट करते हो ये एक वेब सर्वर की तरह काम करता है जिसमे कोई भी ब्यक्ति जो इंटरनेट से कनेक्टेड होता है वो जब आपकी वेबसाइट को ब्राउज़र पे डालता है तो इंटरनेट की मदत से वो इस ऑनलाइन कंप्यूटर से कनेक्ट करके आपकी वेबसाइट से कनेक्ट करते हैं।

अपनी जरूरत तय करें

जब आप होस्टिंग ले रहे हैं तो आपको अपनी जरुरत का पहले से ही पक्का करना है मतलब ये है की आपको सम्जहना होगा की आपकी वेबसाइट पे कितने लोग आपकी वेबसाइट खोल रहे हैं जिससे इंटरनेट ट्रैफिक भी कहते हैं यदि आप समज़ते हैं की आपकी वेबसाइट में एक साल के भीतर ही ट्रैफिक बहुत जयादा आ जायेगा तो आपको एक अच्छी और महंगी होस्टिंग लेनी चाहिए और यदि आप ये तेह नहीं कर प् रहे हो की आपका ब्लॉग एक साल में कितना बड़ा होगा या आपको किसी भी प्रकार का संदेह है तो आपको एक बेसिक होस्टिंग लेनी चाहिए ताकि आपकी वेबसाइट की बेसिक जरूरते पूरी हो सके।

होस्टिंग लेने से पहले बैंडविड्थ की जाँच करें

जब आप एक होस्टिंग चुनते हैं तो आपको उस होस्टिंग देने वाली कंपनी की जाँच करनी चाहिए की वो आपको कितने पैसे में कितनी bandwidth मिलेगी आम भाषा में कहा जाये तो आपकी होस्टिंग कितना ट्रैफिक संभाल सकती है ताकि आप अपनी ज़रूरत के अनुसार होस्टिंग चुन सके।

सामान्य रूप से एक अच्छी जानी मानी कंपनी आपको भरपूर bandwidth देती है जो एक नए ब्लॉगर के लिए ठीक होती है क्युकी जिस bandwidth का आप प्रयोग ही नहीं करोगे तो आप उसके पैसे क्यों दोगे।

सामान्य रूप से एक अच्छी जानी मानी कंपनी आपको भरपूर bandwidth देती है जो एक नए ब्लॉगर के लिए ठीक होती है क्युकी जिस bandwidth का आप प्रयोग ही नहीं करोगे तो आप उसके पैसे क्यों दोगे। आपको भूल करके भी किसी मुफत की होस्टिंग को नहीं लेना है जिस्मे आपके साथ धोखा होने का अंदेशा हो

Data storage

आम तोर पे हर एक होस्टिंग कंपनी आपको बहुत जयादा डाटा स्टोर करने की सुबिधा प्रदान करती है जो की एक ब्लॉगर या एक छोटी वेबसाइट के काफी होता है। यदि आपको किसी खास तरह की वेबसाइट चाहिए जिसमे बहुत सारा डाटा आपकी वेबसाइट में उपलोड़े होने वाला है तो आपको एक जयादा डाटा देने वाली होस्टिंग को लेना चाहिए या फिर ऐसा प्लान लेना चाहिए जिसमे आप अपनी जरुरत अनुसार डाटा स्टोर करने की क्षमता निर्धारित कर सके।

इस्सके साथ साथ आपको ये भी धयान रखना है की की जो डाटा स्टोर की क्षमता को आप ले रहे हैं वो बिलकुल नयी तकनीक की होनी चाहिए इस्सकी मुख्य बजहा है आपके वेबसाइट की लोड होने के गति ये गूगल का एक रैंक करने का महत्वपूर्ण बिंदु है जिस्मे गूगल जल्दी लोड होने वाली वेबसाइट को जायदा महत्ता देता है।

इस लिए आपको सुनिश्चित करना चाहिए की आप कौन सी तकनीक वाली डाटा स्टोरकरने की क्षमता ले रहे हो ये दो प्रकार की होती है एक है HDD (हार्ड ड्राइव डिस्क)और दूसरी है SSD (सॉलिड स्टेट ड्राइव) SDD एक अच्छी और नयी तकनीक है जिसकी मदत से हम आपने डाटा को स्टोर रख सकते हैं खास बात ये है की ये HDD एक मुकाबले 10X जयादा तेज है जिससे आपकी वेबसाइट बहुत जल्दी लोड होजायेगी।

आपकी होस्टिंग का सर्वर स्थान

जब आप एक होस्टिंग लेते हैं तो आपको ये जरूर ध्यान रखना चाहिए की आपकी वेबसाइट दुनिया के कौन से कोने में से होस्ट हो रही है ये जानकारी बहुत जरुरी है इस्सकी मुख्या बजहा है आपके SEO में पड़ने वाला फर्क जैसा की हमने पहले भी कहा की आपको अपनी वेबसाइट की स्पीड अच्छी रखनी है इसी बजहा है ये कहना भी जरुरी होजाता है की आपकी वेबसाइट का डाटा कहा पे स्टोर किया गयाए है और इससे कहा कहा से देखा जानने वाला है ताकि आपकी वेबसाइट की स्पीड को बेहतर कियाजा सके।

इसे हम इस तरह से समजह्ते हैं मान लीजिये की आप दिल्ली में रहते हैं और आपको अभी भूख लगी है तो आप खाना खाने के लिए आपने फ़ोन से आर्डर करते हैं तो आपका खाना जल्दी कहा से आएगा पास के किसी होटल से या आप इससे अमेरिका से आर्डर करोगे ?

इस बात को समाज गए हो तो आप वेबसाइट की सर्वर के स्थान की जरुरत भी समज़ह गए होंगे यदि आपकी वेबसाइट एक से जायदा जगहों में चलाई जाएगी तो आपको अपनी वेबसाइट को एक से जायदा सर्वर से जोड़ना होगा जो की CDN की मदत से आसानी से हो जायेगा।

आपकी वेबसाइट का बैकअप

आपको अपनी वेबसाइट का डेली बैकअप लेते रहना चाहिए जिससे आपके पास अपनी वेबसाइट की ऑफलाइन कॉपी हमेशा हो ताकि आप इसका प्रयोगकारके अपनी वेबसाइट को सुरक्षित रख सके।

आम तोर पे आपको अपने होस्टिंग देनेवाली कंपनी से ही ये सर्विस मिल जाती है परन्तु कभी कभी आपको उनके द्वारा एक अलग सेवा के रूपमेभी बेचीं जा सकती है। इसी लिए आपको होस्टिंग लेते समय इसे ध्यान से लेना चाहिए ताकि आपकी वेबसाइट हर परिस्तिति के लिए तैयार रहे।

वेबसाइट बनाने वाली सेवा देना

आप यदि एक अच्छी होस्टिंग देने वाली कंपनी से होस्टिंग लेते हैं तो आपको बड़ी आसानी से वे आटोमेटिक वेबसाइट बनाने वाली सेवा भी प्रदान करते हैं जिससे आपका कीमती समय बच जाता है।

ये उन् लोगो के लिए सबसे अच्छी सेवा है जो कंप्यूटर या उससे जुडी तकनीकों के बारे में जयादा नहीं जानते उन्हें बस एक क्लिक करना होता है और उनकी वेबसाइट उनका ब्लॉगिंग सॉफ्टवेयर उनकी वेबसाइट में जुड़ जाता है और आपके लिए स्वय ही वेबसाइट बना देता है ।

ये आपको पॉपुलर प्लेफॉर्म जैसे वर्डप्रेस इंसटाल करने में भी सहयता करते हैं।

24/7 सहायता

आपके होस्टिंग प्रोवाइडर का जो सबसे बड़ा परीक्षण होता वो है होस्टिंग के बाद मिलाने वाली सेवा जिस्मे आपके भिन्न भिन्न प्रकार की दिकते किस तरह से ठीक करती हैं।

क्या आपकी मदत के लिए वो हमेसा उपलव्ध रहेंगे क्युकी जयादा तर होस्टिंग कम्पनिया आपको होस्टिंग बेच के बाद की जर्रूरी सेवाएं नहीं दे पाती है।

होस्टिंग लेने के बाद सहयता क्यों जरुरी है ?
इसकी मुख्य बजहा है कभी कभी वेबसाइट में कुछ इस प्रकार की हो जाती है की आप अपने स्तर पे ठीक नहीं कर पाओगे और आपको अपने होस्टिंग देने वाली कंपनी की सहायता लेनी पड़ेगी इसी लिए आपको उनकी इस सहयता की जरुरत होती है ।

इन मुख्य बातो का यदि आप धयान रखे तो आपको एक साथी होस्टिंग लेने में कोई दिकत नहीं होगी।


Uniqueज्ञान द्वारा बताई गयी 3 सर्वश्रेष्ठ होस्टिंग

अब हम आपको बतायेगे की यूनिकज्ञान के हिसाब से कौन कौन सी होस्टिंग लेने के बारेमे सोच सकते हैं। हमने अपनी इस सूचि में सिर्फ 3 होस्टिंग के बारे में ही लिखा है इस्सके इलावा भी बहुत सारी कंपनी है जिससे हम होस्टिंग ले सकते हैं।

Hostinger वेब होस्टिंग

होस्टिंगर वेब होस्टिंग एक शेयर्ड होस्टिंग है मतलब ये है की एक से जयादा लोग एक सर्वर को आपस में बांटते हैं इस प्रकारकी होस्टिंग को शेयर्ड होस्टिंग कहा जाता है। होस्टिंगर वेब होस्टिंग एक अच्छी और सस्ती वेब होस्टिंग है।

होस्टिंगर वेब होस्टिंग कुछ खास अच्छी बाते हैं जिसकी बजहा से आपको वेबहोस्टिंग लेनी चाहिए

होस्टिंगर पर वेबसाइट ज़ल्दी लोड होती है

आपको पता है की वेबसाइट की स्पीड कितना बड़ा सो फैक्टर है जिस कारन आपके वेबसाइट की रैंकिंग अच्छे से हो सकेगी इससे आपके वेबसाइट पे आने वाले लोगो को कोई दिक्कत नहीं होगी। आप होस्टिंगर पे अपनी वेबसाइट होस्ट करते हैं तो वो वेबसाइट एक light speed सर्वर तकनीक का प्रयोग करती हैं जिसकी बजहा से आपकी वेबसाइट की स्पीड बहुत अच्छी हो जाती है इस्सके साथ यदि आप किसी प्रकार के cache प्लगइन काप्रयोगकरेंगे तो वो स्पीड और भिजय बढ़ जाएगी।

30 – दिन की पैसे वापस करने की गारंटी

जब आप होस्टिंगर से होस्टिंग खरीदते हैं तो आपको होस्टिंग तिस दिनों का समय देता है जिस्मे आपको पूरा समय मिलता है की आप होस्टिंगरकि होस्टिंग को पूरी तरह से परख ले समज़ह ले की क्या इस होस्टिंग को आपके द्वारा प्रयोग करना आसान होगा की नहीं होगा क्या आपको इसी तरह की होस्टिंग चाहिए थी।

जब आप ये तह कर ले तो आप पूरी तरह से इससे तिस दिन से जयादा प्रयोग केर सकते हैं। आपको इस बात का ध्यान रखना होगा की हर चीज होस्टिंग प्लान में रिफंडेबल नहीं है जैसे आप यदि प्रीमियमप्लान लेते हैं थो आपको उसके साथ एक फ्री डोमेन भी मिलता औरयदि आप अपने होस्टिंग प्लान को 30 दिन से पहले यदि कैंसिल करदेते हैं तो आपको उस डोमेन के पैसे काट के ही बाकी के पैसे मिलेंगे इसी लिए इस चीज़ को आपको ढंग से होस्टिंग की वेबसाइट पे चेक केर लेना चाहिए।

इस्सके साथ साथ आपको होस्टिंगर में हर प्रकार की पैसे देने की सुभीधा दी जाती है जैसे की डेबिट कार्ड से क्रेडिट कार्ड से इंटरनेट बैंकिंग से और साथ ही UPI से भी आप पेमेंट केर सकते हो।

होस्टिंगर का बहुभाषी ग्राहक सहायता

होस्टिंगर एक वैश्विक कंपनी है इसी लिए आपको इनकी सहायता एक से जयादा देश में मिलती है और हमने पहले भी ये बात कही है की होस्टिंग कंपनी वो अच्छी है जो आपको अच्छे से सहायता प्रदान करे ।
होस्टिंगर होस्टिंग की live chat सहायता बहुत ही अच्छी है इस्कीमादातसे आप आसानी से उसी समयपे आपके प्रश्न कि हल मिल जायेगा इसके साथ साथ आपको होस्टिंगर पे दी जानने वाली जरुरी और महत्वपूर्ण जानकारी इनके ब्लॉग में मिल जाएगी ये आपको विडिओ बना कभी आपको आपकी पहेली वेबसाइट होस्ट करने में मद्दत करेंगे।
इस्सके साथ साथ आपको यदि आपकी कोई पुराणी वेबसाइट उसे भी होस्टिंगर पे माइग्रेट करने में मदत मिल सकती है।

मुफ्त वेबसाइट बिल्डर और डोमेन नाम

आपको Hostinger की होस्टिंग के साथ फ्री वेबसाइट बिल्डर साथ में मिलता है जो लोग वेबसाइट बनाने के बारे में या फिर वर्डप्रेस के बारे में नहीं जानते हैं उनके लिए ये एक अच्छा विकल्प है ताकि वो भी अपनी वेबसाइट बनना सके इसे प्रयोग करना बहुत ही आसान है और आपको इसके टुटोरिअल होस्टिंगर की वेबसाइट पे भी मिल जायेंगे।

Hosting Hostinger

इंटरफ़ेस का उपयोग करने के लिए आसान और इसमें कोई पारंपरिक c Panel नहीं है

कोई भी होस्टिंग तब अच्छी होती है जब उसे प्रयोग करना आसान होता जैसे की आप अपनी वेबसाइट किस तरह से होस्टिंगर की वेबसाइट पे जोड़ते हैं आप कितनी आसानी से वर्डप्रेस को इनस्टॉल केर सकते हैं यदि आपको कोई विषेश सेटिंग अपनी वेबसाइट के लिए करनी है थो आप ये कैसे करोगे ये सभी चीज़े एक होस्टिंग को अच्छी होस्टिंग बनाती है।

होस्टिंगर एक शेयर्ड होस्टिंग सेवा है आपको इससमे किसी भी और शेयर्ड होस्टिंग की तुलना में C panel की जगह h panel देत्ती है जो की होस्टिंगर की टीम के द्वारा ही बननाया गया है ताकि आप आसानी से अपनी होस्टिंग का प्रयोग करसके ये पारम्परिक C panel की तुलना में भिन्न है पैर खास बात ये है की इसका प्रयोग करना बहुत ही आसान है और कोई भी इसकाप्रयोग कर सकता है।

प्रीमियम और व्यावसायिक योजनाऐ

आपको होस्टिंगर शेयर्ड होस्टिंग तीन मुख्य योजनाए प्रदान करती है जो की अलग अलग जरूरते पूरी करतीहै इसकी प्रमुख योजनाए
प्रीमियम और व्यावसायिक हैं। इसके साथ साथ आपको single plan भी मिलता है जिसमे की हर महीने आपको पैसे देने पड़ते हैं और इससमे आप सिर्फ एक वेबसाइट ही होस्ट कर सकतेहो । हम इस प्लान को खरीदने के लिए नहीं कहेंगे क्युकी ये महंगा और काम सेवा देने वाला प्लेन है इस्सके बज़्ज़ाए आपको कम से कम प्रीमियम प्लान तो लेना चाहिए।

आपको प्रीमियम और व्यावसायिक योजनाऐ में बहुत सारे फीचर मिलते हैं ताकि आप आसानी से अपनी वेबसाइट को चला सके कुछ मुख्य सेवाएं जो की होस्टिंगर आपको इन प्लान में देता है ।

Premium plan

Business plan

Set up Your WordPress Blog

Choose an Attention-Grabbing Theme

Some Essential Plugins For Your Blog

Write and Publish Your First Blog Post

Example of some successful blog

Tools required for a successful blog

How Blogging can help you in the journey of Digital Marketing

Leave a Comment